VPN क्या है और VPN कैसे काम करता है

नमस्कार दोस्तों आज के इस आर्टिकल मे जानेंगे की vpn क्या है और यह कैसे काम करता है VPN का फुल फॉर्म क्या है इसके बारे मैं आप के जानकारी शेयर करूंगा। चलिए आपका ज्यादा समय न बर्बाद करते हुए टॉपिक की तरफ चलते हैं ।

VPN क्या है यह कैसे काम करता है in Hindi


Vpn क्या है

अब हम जानेगे की vpn क्या है, वीपीएन (वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क) यह एक नेटवर्क टेक्नॉलजी है जिसके द्वारा public Network (Internet) और private Network (WiFi) के बीच एक सिक्युर (Secure) और एन्क्रिप्टेड (Encripted) कनेक्शन बनाता है।

वीपीएन आपके IP Address (Internet Protocol Address) क हाइड कर देता है, जिससे आपकी Online Activity को Trace नहीं किया जा सकता है। अपने नेटवर्क कनेक्शन को सिक्युर करने के लिए और Personal Data को Hackers से बचाने के लिए, वीपीएन एक बेहतरीन तरीका है।

वीपीएन सर्विस को अधिकतर बड़े-बड़े Organization, Corporation, Government Agencies, Educational Institutions, और Online काम करने वाले Office Workers जैसे लोग VPN सर्विस का इस्तेमाल करते हैं। ताकि वो लोग Hackers अपने Most Important Data को Safe और secure कर पाएं वीपीएन के द्वारा आप सभी प्रकार के अनलाइन data को safe एण्ड सिक्युर रख सकते हैं।

वीपीएन सर्विस का इस्तेमाल हर वह व्यक्ति कर सकता है जो internet का उपयोग करता है चाहे वह अपने data को safe रखना चाहता हो या फिर Safe Browsing ही क्यों न करना चाहता हो। वीपीएन सर्विस  का इस्तेमाल आप अपने मोबाईल / लैपटॉप / डेस्कटॉप मे बड़ी ही आसानी कर सकते है।

VPN कैसे कांम करता है

अब हम जानेंगे की वीपीएन कैसे काम करता है , वीपीएन आपके Private Network से लेकर Public Network तक एक सिक्युर कनेक्शन Tunneling (सुरंग) के द्वारा बनाता है। इससे होकर गुजरने वाला data Encripted होता है। जिससे की आपको वीपीएन internet पर Anonymous और Safe रहने मे मदद करता है।

आसान शब्दों मे बताऊँ तो वीपीएन आपके इंटरनेट सेवा प्रदाता (ISP- Internet Service Provider) के बजाय आपके द्वारा चुने हुए वीपीएन के निजी सर्वर (Private Server) के माध्यम से आपके internet Connection को रूट करके काम करता है, जिससे की जब भी आप internet पर कुछ भी सर्च करें तो वह data आपके कंप्युटर के बजाय सीधे वीपीएन Server से आए।

जब भी आप इंटरनेट से कनेक्ट होते हैं तो यह intermediator का काम करता है जिससे आपके IP Address (Internet  Protocol Address) को हाइड कर दिया जाता है।

इसका मतलब है की वीपीएन के जरिए आप India मे रहकर U.S. के सर्वर से कनेक्ट होते हैं या किसी और Country के server से जिस country मे उस वीपीएन के server मौजूद हैं उस country के server से आप वीपीएन के द्वारा कनेक्शन बना पाते हैं।

मान लीजिए, यदि आपकी Country मे कोई वेबसाइट Ban है और आप बिना वीपीएन के उस वेबसाइट को Access करने की कोशिश कर रहे हैं तो आप उस वेबसाइट को Access नहीं कर पाएंगे, अगर आप वीपीएन से कनेक्ट होकर फिर उस वेबसाइट को एक्सेस करेंगे तो आप उस वेबसाइट को एक्सेस करके उसके data को भी एक्सेस कर पाएंगे।

क्योंकि जब आप बिना वीपीएन सर्विस के Ban की हुई वेबसाइट के data को एक्सेस करने की कोशिश करते हैं तो आपके Network Service Provider को पता चल जाता है की वह वेबसाइट इस country मे Ban है और वह उस वेबसाइट को एक्सेस नहीं करने देते हैं।

यदि आप वीपीएन सर्विस का इस्तेमाल करके उस वेबसाईट के data को एक्सेस करने की कोशिश करते हैं तो आपके ISP को यह पता नहीं चलेगा की आप कौन सी वेबसाइट को Visit कर रहे हैं। क्योंकि आपकी वेब ऐक्टिविटी वीपीएन सर्वर के IP Address से Connect होती है न की डायरेक्ट आपके सिस्टम के IP Address से कनेक्ट होती है।

जब भी आप Without वीपीएन के internet को ब्राउज़ करते हैं आपकी वेब ऐक्टिविटी आपके ISP को पता चल जाता है क्योंकि उस समय आप अपने सिस्टम के IP Address से कनेक्ट होते हैं और जब आप वीपीएन से connect होकर इंटरनेट पर ब्राउज़िंग करते तब आप वीपीएन के सर्वर के ip Address से कनेक्ट होते हैं और वह आपके सिस्टम के ip Address को हाइड कर देता है यदि आपका कोई ip Address trace करता है तो उसे सिर्फ वीपीएन के सर्वर का ip address ही दिखता है जिस वजह से आपके ISP को यह पता नहीं चल पाता है की आप कौन से website Visit कर रहे हैं।

वीपीएन server provider worldwide कहीं पर भी हो सकते हैं।

उदाहरण के लिए, यदि इंडिया मे Netflix Ban है और आप बिना वीपीएन के Netflix की वेबसाइट को एक्सेस करेंगे तो आप उसे एक्सेस नहीं कर पाएंगे और यदि आप वीपीएन का इस्तेमाल कर Netflix की Website को Access करेंगे तो आप बड़ी ही आशानी से उस website के content को देख सकते हैं।

vpn advantage and disadvatge

vpn advantage

  • ये एक public connection को safely access करने में मदद करता है। 
  • यह आपकी Online Security को बड़ा देता है। 
  • इसकी मदद से आप Block Websites को भी Access कर सकते हैं।
  • इनकी मदद से आप इंटरनेट पर Annonymous रहकर काम कर सकते हैं।  

vpn disadvantage 

  • सभी Available VPNs का भरोषा नहीं किया जा सकता है।
  • ज्यादातर Reliable VPNs free Available नहीं होते हैं। 
  • High Confidential डाटा के लिए आपको फ्री VPN का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।